जापान के लोगों की लम्बी उम्र का राज, रेहन सेहन ,जीने का तरीका ,जापानी खाना पीना

अगर जनसंख्या के अनुपात के हिसाब से देखें तो इस बात में कोई शक नहीं कि जापान में सबसे अधिक 100+ वर्षीय उम्र के लोग रहते हैं।जापान में कुल 70,000 से भी ज्यादा ऐसे लोग है जिनकी उम्र 100 साल से ज़्यादा है।सबसे लंबी उम्र जीने वाली महिला जिसकी उम्र 117 साल है वह भी …

Continueजापान के लोगों की लम्बी उम्र का राज, रेहन सेहन ,जीने का तरीका ,जापानी खाना पीना

ladkiyon mai jawani ke doran hone wale badlaav

लेखक – अविका पढ़ने का समय – 4 मिनट लड़कियों में 11 – 13 साल की उम्र में शारीरिक- मानसिक बदलाव होना शुरू हो जाते हैं।यह बदलाव 3-4 साल तक होते रहते हैं।इस समय कुछ लड़कियों की लंबाई एक साल के अंदर ही 4 इंच तक बढ़ सकती है।इस अवस्था को यौवन काम कहते हैं …

Continueladkiyon mai jawani ke doran hone wale badlaav

kutta palne ke fayde(Benifits of owning a dog in hindi)

लेखक – दीपक                  पढ़ने का समय-3 मिनटजब से मेरा जन्म(1998) हुआ है तब से हमारे घर में कोई ना कोई कुत्ता रहा है।2016 में हमारा पेट् शेरू भी मर गया था उसके बाद से हमने कभी कोई कुत्ता नहीं पाला।शहर में कुत्ता पालने से पड़ोसियों को दिक्कत होती थी इसलिए उसके बाद कभी कोई पेट …

Continuekutta palne ke fayde(Benifits of owning a dog in hindi)

neend ko kaise kum karein, tarika upay

लेखक- विज्ञोगी       पढ़ने का समय- 5 मिनिट जब मैं शहर के लोगों को यह बताता हूं कि मैं दिन में सिर्फ 4 घंटे सोता हूं तो उनके मुंह से केवल एक ही शब्द निकलता है- असंभव। आज से 5 साल पहले जब मैं जरूरत से ज्यादा सोने की आदत से ऊब चुका था तब मैंने …

Continueneend ko kaise kum karein, tarika upay

विटामिन डी – कमी मैं क्या खाएं , रोग , इलाज़, घरेलू उपचार ,कैलसिट्रायल युक्त भोजन

सबसे पहले आम बोल चाल की भाषा सही करने के लिए आपको बता दें कि विटामिन -D असल में विटामिन है ही नहीं। विटामिन वह पदार्थ होता है जिसको शरीर खुद नहीं बना पाता है बल्कि भोजन से प्राप्त करना पड़ता है। विटामिन-D का असली नाम कैलसिट्रायल है, जोकि हार्मोन है।यह शरीर में भोजन से …

Continueविटामिन डी – कमी मैं क्या खाएं , रोग , इलाज़, घरेलू उपचार ,कैलसिट्रायल युक्त भोजन

Cholesterol kya hai in hindi

आजकल के लोगों में यह भ्रम जरूर है कि कोलेस्ट्रोल सेहत के लिए सिर्फ नुकसानदायक है। परंतु कोलस्ट्रोल हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी है जिसके बिना काम नहीं चल सकता।हमारा लीवर रोजाना 1 से 2 ग्राम कोलेस्ट्रॉल बनाता है।कोलेस्ट्रॉल हर सैल का अहम हिस्सा है।साथ ही साथ विटामिन डी,स्टेरॉयड हार्मोन और बाइल(पाचक रस) बनाने …

ContinueCholesterol kya hai in hindi

soda drinks ke fayde or nuksaan

 हम सभी को सोडा ड्रिंक जैसे कि कोको-कोला,कोक, पेप्सी माउंटेन ड्यू पीने का शौक तो होता ही है।पर आपके मन में कभी यह सवाल आया है कि क्या सोडा ड्रिंक पीना सेहत के लिए स्वास्थ्य कारक है या नहीं?आपके मन में भी यह सवाल अक्सर आता होगा कि-

•क्या सोडा पीने से वजन बढ़ता है?

•क्या यह आपको मीठे का आदी बना सकता है?

•क्या यह आपके हारमोंस के संतुलन को बिगाड़ता है?

•क्या यह पेट के अच्छे बैक्टीरिया को नुकसान पहुंचाता है?

•सोडा किस प्रकार सेहत पर असर करता है ?

क्यों कुछ लोग सोडा पीने के बहुत आदी हो जाते हैं?

1.क्या सोडा पीने से वजन बढ़ता है-

तेज मधुकर आठ प्रकार के होते है। उदाहरण के तौर पर एक माउंटेन ड्यू में लगभग तीन प्रकार के तेज मधुकर पाए जाते हैं।सोडा को लेकर हुई रिसर्च में लगभग 200 से अधिक व्यक्तियों ने भाग लिया था। इस एक्सपेरिमेंट में सभी लोगों के सोडा पीने और सोडा से बढ़ने वाले वजन का निरीक्षण किया गया।

Soda leads to weight gain

पिछले दो दशक में सोडा को लेकर बहुत सारी रिसर्च हुई हैं। सोडा को मीठा करने के लिए इसमें अलग-अलग प्रकार के स्वीटनर या मधुकर मिलाए जाते हैं। कुछ सोडा में बहुत तेज मधुकर पदार्थ भी मिलाए जाते हैं

परिणाम में यह सामने आया कि सोडा में जिस प्रकार का मधुकर मिला हुआ है उसका शरीर पर वैसा ही असर होता है। कुछ मधुकर शरीर का वजन बढ़ने का कारण पाए गए जबकि कुछ मधुकर शरीर के लिए सेहतमंद पाए गए।

सक्रोज(sucrose) और सैह्करन(saccharin) जैसे मधुकरशरीर का वजन बढ़ाते हैं।एस्पार्टेम(aspartame) जैसे मधुकर जो डाइट कोक और डॉक्टर पेपर में पाया जाता है वह शरीर में बहुत जल्दी हजम हो जाता है और अमीनो एसिड में टूटकर पेट से खून में पहुंच जाता है।

न्योटेम (neotame) भी कुछ ऐसा ही मधुकर है जो आसानी से टूट जाता है।यह दोनों मंद मधुकर होते हैं जो अमीनो एसिड में टूट जाते हैं कभी शरीर से खून में नहीं जाते। तेज मधुकर जैसे स्टेविया(stevia) और सक्रालोज(sucralose) यह पूरी तरह हजम नहीं हो पाते हैं और सीधा खून में पहुंच जाते हैं।

2.क्या सोडा मीठे का आदी बनाता है-

Soda makes you sugar addict

यह बात बिल्कुल स्पष्ट है कि सोडा आपको मीठे का आदी बनाता है। सोडे में पाए जाने वाला मधुकर आपको मीठे के प्रति आकर्षित करता है।बार-बार सोडा पीने पर आपका दिमाग भी बार-बार मीठा लेने का आदी हो जाता है और यह सोडा ना मिलने के कारण आपका शरीर दूसरे मीठे पदार्थों की ओर आकर्षित होता है।

3.क्या सोडा आपके हारमोन के स्तर को प्रभावित करता है-

Soda alters hormone balance

जब आप तेज मधुकर वाला सोड़ा पीते हैं तो शरीर को यह लगता है कि आप मीठा खा रहे हैं क्योंकि इसमें बहुत अधिक मात्रा में शुगर होती है। इसकी वजह से आपके पित्ते से इंसुलिन निकलता है ताकि सोडे की शुगर को पचाया जा सके। इंसुलिन नामक हारमोन के निकलने की वजह से वसा की पाचन क्रिया मंद पड़ जाती है जिसकी वजह से वसा का पाचन नहीं हो पाता है। इस वजह से कुछ हद तक वजन भी बढ़ सकता है परंतु वजन कम करना या नियंत्रण में रखना पूरी दिन की दिनचर्या पर निर्भर करता है केवल इन्सुलिन पर नहीं केवल सोडा ना पीकर आप अपने वजन को नियंत्रण में नहीं रख सकते।इसके अलावा और भी सेहतमंद आदतें अपनाना जरूरी है।

4.क्या सोडा आपके पेट के अच्छे बैक्टीरिया को नुकसान पहुंचाता है-

Soda harms good bacteria of stomach

जैसा कि आपको पता ही होगा कि भोजन सिर्फ पेट ही नहीं पचाता बल्कि पेट में पाए जाने वाले 400 से अधिक किस्म के बैक्टीरिया भी पाचन-क्रिया में मददगार होते हैं।

सोडा में पाए जाने वाले मधुकर आपकी ऊर्जा शक्ति, रोग प्रतिरोधक क्षमता लगभग सभी पर असर डालता है। क्या मधुकर पेट में पाए जाने वाले अच्छे बैक्टीरिया पर बुरा असर करेगा या नहीं यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस प्रकार के मधुकर का सेवन कर रहे हैं। रिसर्च में यह सामने आया है कि कुछ मधुकर जैसे कि स्टेविया (stevia), सूक्रालोस(Sucralose), सैह्करीन(saccharin) पेट के अच्छे बैक्टेरिया को नुकसान पहुंचाते हैं। सोडा बैक्टीरिया को मारता तो नहीं पर इसे नुकसान जरूर पहूंचता है।

Continuesoda drinks ke fayde or nuksaan

protein in hindi,fayde,kami ke lakshan,bhojan

1. प्रोटीन के बारे में अहम जानकारी जो हर सेहत के प्रति जागरूक व्यक्ति को पता होनी चाहिए- •जब भी हम सेहत और स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देते हैं तो हम पाते हैं कि प्रोटीन बहुत ही आवश्यक है। •भोजन में प्रोटीन शारीरिक वृद्धि और दैनिक कुशलता के लिए आवश्यक है। • प्रोटीन दो प्रकार …

Continueprotein in hindi,fayde,kami ke lakshan,bhojan

kyo kuch log logon ko doodh se allergy hoti hi

आपने अक्सर देखा होगा कि बहुत से लोगों को प्रोटीन हजम नहीं हो पाता है।कुछ लोगों को तो दूध और दूध से बनी चीजें भी हजम नहीं हो पाती। जो लोग जिम जाते हैं उनको प्रोटीन की जरूरत पड़ती है जब वे प्रोटीन लेते हैं तब वह भी हजम नहीं कर पाते हैं। निम्नलिखित जानकारी …

Continuekyo kuch log logon ko doodh se allergy hoti hi

sugar kya hai,upchar

शुगर के बारे में साधारण जानकारी जो हर किसी को पता होनी ही चाहिए- शुगर का नाम सुनते ही सबसे पहले ख्याल आता है मीठा या चीनी। पर यह बिल्कुल भी सत्य नहीं है कि जो चीज मीठी नहीं है उसमें शुगर ना हो ।अगर  रासायनिक तौर पर बात की जाए तो लगभग हर खाने …

Continuesugar kya hai,upchar