neend ko kaise kum karein, tarika upay

लेखक- विज्ञोगी       पढ़ने का समय- 5 मिनिट

जब मैं शहर के लोगों को यह बताता हूं कि मैं दिन में सिर्फ 4 घंटे सोता हूं तो उनके मुंह से केवल एक ही शब्द निकलता है- असंभव।

आज से 5 साल पहले जब मैं जरूरत से ज्यादा सोने की आदत से ऊब चुका था तब मैंने अपनी नींद को कम करने की कसम खाई थी। लगभग 2 साल तक इंटरनेट के बताए हुए सारे तरीके अपनाने के बाद भी आलस नहीं गया। इंटरनेट पर बताए गए जितने भी तरीके थे वह सब एक ही सिद्धांत पर काम करते थे – जोश से भरना, अच्छा खाना खाना, और कम नींद के फायदे बताकर इंसान को प्रोत्साहित करना।

 

how to control your sleep

इंटरनेट के बताए गए तरीके इसलिए काम नहीं करते हैं क्योंकि वह आप को जोश से भर देते हैं। जोश-जोश में आप अगले दिन 4:00 बजे उठ तो जाते हैं पर आपको सारा दिन नींद आती रहती है जिसकी वजह से कोई भी काम ढंग से नहीं हो पाता। ऐसा करने से केवल दो-चार दिन बाद ही शरीर थक कर चूर हो जाता है।

मैंने लगभग तीन साल में खुद पर एक्सपेरिमेंट करके यह तरीका बनाया है जो कि मेरे लिए बहुत कारगर साबित हुआ है।

1. सबसे पहले यह नोट डाउन करें कि 1 दिन में कितने घंटे की नींद लेते हैं। यह भी नोट डाउन करें कि आप रात को कितने बजे सोते हैं और सुबह कितने बजे उठते हैं। उदाहरण के तौर पर अगर आप 10 बजे सोकर 6 बजे उठते हैं तो इसे नोटेडाउन कर लीजिए।

2. अब आपको यह देखना है कि आप रोज 1 दिन में कितने घंटे की नींद लेते हैं और कितने घंटे की नींद कम करना चाहते हैं।

3. अगर आप 8 घंटे की नींद लेते हैं और इसको 5 घंटे करना चाहते हैं तो एक कागज पर लिख कर रख ले जो आपको बार-बार अपने उद्देश्य का याद दिलाएगा।

4. नींद को कम करने के लिए जो” बहुत से लोग गलती करते हैं और आपको बिल्कुल भी नहीं करनी  है कि आपको एक दिन में ही अपनी 3 घंटे की नींद का समय कम नहीं कर देना है बल्कि इसको धीरे-धीरे कम करना।धीरे-धीरे से मतलब रोजाना सिर्फ एक-एक मिनट।

5. अगर आप पहले सुबह 6 बजे उठते थे तो आपको अगले दिन 5: 59 का अलार्म लगाना है।

6. उससे अगले दिन आपको 5:58 बजे का अलार्म लगाना है। फिर उससे अगले दिन 5:57 का उससे अगले दिन 5:56।

7. रोज नींद का एक 1 मिनट कम करने से फायदा यह होगा शरीर पर एकदम से बोझ नहीं पड़ेगा। एक-एक मिनट नींद कम होने से शरीर को इतना समय मिल जाएगा जिससे नीींद शरीर पर हावी ना हो।

8. इस तरह करते-करते लगभग 30 दिन बाद आप अपनी नींद का आधा घंटा कम कर देंगे। आधा घंटा नींद कम हो जाने के बाद कम से कम 10 दिनों के लिए अपनी नींद का समय कम ना करें।क्योंकि शरीर को ढलने के लिए थोड़ा वक्त चाहिए होता है।

9. 10 दिन बाद आपको वापस से एक 1 मिनट कम करना है।30 दिन तक रोज एक 1 मिनट कम करने के बाद आप आधा घंटा और कम कर लेंगे।

अब आप 8 की बजाय 7 घंटे की नींद ले रहे हैं। 7 घंटे की नींद पर पहुंचते ही 10-15 दिनों तक समय और ना घटाएं। शरीर को थोड़ा समय दें जिससे वह थोड़ा ढल सके।

10. पंद्रह दिनों बाद उसी चक्कर को वापस शुरू कीजिए 1- 1 मिनट घटाइए है और जब आधा घंटा घट जाए तो इस बार शरीर को कम से कम 20 दिन तक ढलने का मौका दीजिए।

11.फिर वही चक्कर वापस चालू कर दीजिए। एक-एक मिनट घटाते रहिए और जब आधे घंटे की नींद कम हो जाए तो इस बार कम से कम 30 दिन तक शरीर को ढलने का मौका दीजिए।अब आप 6 घंटे की नींद ले रहे हैं।

12. रोजाना नींद का समय 6 घंटे से कम करना थोड़ा मुश्किल है। इसलिए 6 घंटे से कम नींद करने के लिए रोजाना 1 मिनट मत घटाइए बल्कि हर 3 दिन बाद 1 मिनट घटाइए। यानी कि आज अगर 6 घंटे सोए थे तो आज से 3 दिन बाद 1 मिनट का समय कम करना है। आधा घंटा कम होने के बाद फिर शरीर को ढलने के लिए 30 दिन का समय दे।

13. ऐसा करते करते आप  5 घंटे की नींद पर भी आसानी से पहुंच जाएंगे।और कुछ समय बाद 4 घंटे की नींद में भी पहुंच जाएंगे।

 

क्या 4 घंटे की नींद से शरीर को नुकसान हो सकता है- यदि आपको 4 घंटे की नींद से कमजोरी थकान, चक्कर,सिर में दर्द जैसी दिक्कतें होती है तो मेरा यही सुझाव होगा कि आप इतनी कम नींद मत ले। यदि कर पाते हैं तो अच्छी बात है पर शरीर को फोर्स करने की जरूरत नहीं है।

हालांकि बहुत से ऐसे लोग हैं जो 4 घंटे ही सोते हैं। आर्मी, कमांडो, सीक्रेट एजेंट, बिज़नेस मेन ,किसान अगर 4 घंटे से ज़्यादा सोने लगे तो हो लिया काम।

चेतावनी नींद को कभी 4 घंटे से कम मत कीजिए
यदि आप बहुत मजबूत है और नींद को 4 घंटे से भी कम कर सकते हैं तो भी 4 घंटे से कम मत कीजिए। ऐसे बहुत से लोग हुए हैं जो चार घंटे से कम सोया करते थे परन्तु उनमें से कोई भी लंबे समय तक जीवित नहीं रह सका। ज़्यादातर को कोई ना कोई असाध्य मानसिक रोगी हो गया।

बोनस टिप– सुबह उठते ही अपने पूरे शरीर को झटके देकर हिला लेना चाहिए। हाथ पैर हिलाने से होगा यह कि शरीर के अंगो में रक्त संचार शुरू हो जाएगा जिससे सुस्ती ‍नहीं चढती।

एक ओर बोनस टिप – महान वैज्ञानिक निकोला टेस्ला प्लॉयफसिक स्लीप लिया करते थे।
यानी कि दिन में वो चार घंटे सोने की बजाए दिन में दो बार 2 घंटे की नींद लिया करते थे। सुबह उठते ही शरीर में ऊर्जा ज़्यादा होती है जो धीरे धीरे कम होती जाती है पर अगर दिन में दो बार उठेंगे तो दो बार ऊर्जा मिलेगी।।

कॉमेंट बॉक्स में हिंदी English भाषा में सवाल पूछिए मैं जवाब दूंगा।

Leave a Comment